पहली मोहब्बत मेरी हम जान न सके,
प्यार क्या होता है हम पहचान न सके,
हमने उन्हें दिल में बसा लिया इस कदर कि,
जब चाहा उन्हें दिल से निकाल न सके।

Click to copy

तेरा नाम ही ये दिल रटता है,
ना जाने तुम पे ये दिल क्यू मरता है,
नशा है तेरे प्यार का इतना,
कि तेरी ही याद में ये दिन कटता है।

Click to copy

उनके दीदार के लिए दिल तड़पता है,
उनके इंतजार में दिल तरसता है,
क्या कहें इस कम्बख्त दिल को..
अपना हो कर किसी और के लिए धड़कता है।

Click to copy

जब कोई ख्याल दिल से टकराता है,
दिल न चाह कर भी खामोश रह जाता है,
कोई सब कुछ कहकर प्यार जताता है,
कोई कुछ न कहकर भी सब बोल जाता है।

Click to copy

आदत बदल दू कैसे तेरे इंतेज़ार की,
ये बात अब नही है मेरे इकतियार की,
देखा भी नही तुझ को फिर भी याद करते है,
बस ऐसी ही खुश्बू है दिल मे तेरे प्यार की!

Click to copy

कितना प्यार है उनसे काश वो ये जान लें,
वो ही है ज़िंदगी मेरी ये बात मान लें,
उनको देने को नहीं कुछ पास हमारे,
बस एक जान है हमारी जब चाहे मांग लें!

Click to copy

मोहब्बत तो सिर्फ एक इत्तेफाक है,
ये तो दो दिलों की मुलाकात है,
मोहब्बत ये नहीं देखती कि दिन है या रात है,
इसमें तो सिर्फ वफादारी और जज़्बात है।

Click to copy

सफर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो,
नजर वहीं तक है जहाँ तक तुम हो,
हजारों फूल देखे हैं इस गुलशन में मगर,
खुशबू वहीं तक है जहाँ तक तुम हो!

Click to copy